टार्सर मार्सर ट्रेक कश्मीर में घूमने की जगह

टार्सर मार्सर ट्रेक

टार्सर मार्सर ट्रेक के बारे में कुछ संक्षिप्त जानकारियां 

Tarsar Marsar trek भारत के जम्मू और कश्मीर के लुभावने परिदृश्यों के माध्यम से एक मंत्रमुग्ध कर देने वाली यात्रा है। यह एक लोकप्रिय ट्रैकिंग मार्ग है जो अपनी शांत झीलों, हरे-भरे घास के मैदानों और आश्चर्यजनक पहाड़ी परिदृश्यों के लिए जाना जाता है। तरसर मरसर एक ऐसा ट्रेक है जिसमे हमें अल्पाइन झीलों की सुंदरता को करीब से देखने का मौका मिलता है, इतना ही नहीं देखने के साथ–साथ आपको इन शाही, नीली व बर्फ से ढकी झीलों के किनारे एकांत और प्रकृति से घिरे शिविर स्थलों पर ठहरने का मौका भी मिलता है । टार्सर मार्सर ट्रेक एक मध्यम स्तर का ट्रेक है जिसे पूरा होने में आमतौर पर लगभग 5 से 6 दिन लगते हैं। इसकी शुरुआत जम्मू और कश्मीर के पहलगाम क्षेत्र में स्थित अरु गांव से होती है। यह ट्रेक लगभग 35 से 40 किलोमीटर की दूरी तय करता है, जो ट्रेकर्स को प्राकृतिक सुंदरता और रोमांच का एक आदर्श मिश्रण पेश करता है।

ट्रेक यात्रा का कार्यक्रम

  1. पहला दिन

श्रीनगर से अरु तक ड्राइव

  • दूरी : 100 किलोमिटर
  • अवधि :3-4 घंटे 
  1. दूसरा दिन

अरु से लिद्दरवाट तक ट्रेक

  • ट्रेक की दूरी : 10 किलोमिटर
  • ट्रेक की अवधि :6 घंटे 
  1. तीसरा दिन

लिद्दरवाट से शेकवास तक ट्रेक

  • ट्रेक की दूरी : 5.6 किलोमिटर
  • ट्रेक की अवधि :5 घंटे 
  1. चौथा दिन

शेकवास से तारसर तक ट्रेक

  • ट्रेक की दूरी : 5 किलोमिटर
  • ट्रेक की अवधि :4 घंटे 
  1. पांचवां दिन

तरसर से सुंदरसर तक ट्रेक

  • ट्रेक की दूरी : 5 किलोमिटर
  • ट्रेक की अवधि :5 घंटे 
  1. छठ्ठा दिन

सुंदरसर से होमवास तक ट्रेक

  • ट्रेक की दूरी : 9 किलोमिटर
  • ट्रेक की अवधि :7 घंटे 
  1. सातवां दिन

होमवास से अरु तक ट्रेक

  • ट्रेक की दूरी : 13 किलोमिटर
  • ट्रेक की अवधि :6 घंटे 

ट्रेक की कुछ विशेषताएं

टार्सर मार्सर ट्रेक

इस ट्रेक का नाम दो खूबसूरत अल्पाइन झीलों, टार्सर मार्सर के नाम पर रखा गया है, जो यात्रा का मुख्य आकर्षण हैं। टार्सर झील, जिसका क्रिस्टल-सा साफ पानी आसपास के पहाड़ों को प्रतिबिंबित करता है, देखने में बड़ा ही मनमोहक है। अधिक ऊंचाई पर स्थित मार्सर झील, आसपास की चोटियों और ग्लेशियरों का आश्चर्यजनक व मनोरम दृश्य प्रस्तुत करती है। पूरे ट्रेक के दौरान, ट्रैकर्स को हरे-भरे घास के मैदान, घने देवदार के जंगल और बर्फ से ढके पहाड़ी दर्रे सहित विभिन्न प्रकार के परदृष्यों को देखने का मौका मिलता है। यह रास्ता विचित्र गांवों से होकर गुजरता है, जहां ट्रेकर्स स्थानीय समुदायों के साथ बातचीत कर सकते हैं और हिमालय में जीवन के पारंपरिक तरीके का अनुभव कर सकते हैं।

ट्रेक पर ले जाने के लिए आवश्यक वस्तुएं 

  • सरकारी फोटो पहचान पत्र की मूल एवं फोटोकॉपी।
  • एमबीबीएस डॉक्टर द्वारा अनुमोदित मेडिकल सर्टिफिकेट।
  • ट्रेकिंग के लिए मज़बूत जूते
  • 50-60 लीटर का एक बैकपैक
  • कपड़ों के मामले में आपको कुछ इस तरह से पैकिंग करनी होगी की आप गर्म माहौल व सर्द मौसम दोनो के लिए तैयार रहें।
  • एक टी-शर्ट पहनें और दो ले जाएं। पूरी आस्तीन वाली ड्राई-फिट टी-शर्ट अपने साथ रखें
  • ऊन की 2 हल्की परतें और 1 पूरी आस्तीन का हल्का स्वेटर।
  • इस ट्रेक के लिए दो जोड़ी ट्रेक पैंट पर्याप्त होंगे। बारिश होने की स्थिति में एक जोड़ा पहनें और दो साथ रखें।
  • धूप का चश्मा बर्फ से होने वाले अंधेपन को रोकने के लिए है।
  • सन कैप अनिवार्य है। बिना सन कैप के ट्रैकिंग करने से सिरदर्द, सनस्ट्रोक और ट्रैकिंग प्रदर्शन में भारी गिरावट हो सकती है।
  • दस्ताने जरूर रहें क्योंकि आपको किसी चीज़ को पकड़ने या बर्फ में खुद को स्थिर रखने के लिए दस्ताने की आवश्यकता होगी
  • अपने सर व कानों को ठंड से बचाए रखने के लिए वूलन कैप या बालाक्लाव जरूर रखें।
  • ऊनी मोजे की जोड़ी
  • ट्रैकिंग पोल आपको स्थिरता और संतुलन प्रदान करते हैं। वे आपकी ऊर्जा खपत को लगभग 40% तक कम कर देते हैं।
  • दूरी के दौरान खुद को हाइड्रेटेड रखने के लिए आपको एक लीटर की दो पानी की बोतलें ले जानी होंगी।

टार्सर मार्सर ट्रेक पर जाने के लिए सबसे अनुकूल समय

टार्सर मार्सर ट्रेक

टार्सर मार्सर ट्रेक 13,201 फीट की ऊंचाई पर स्थित है और यह बहुत कठिन नहीं है। इसे ‘मध्यम’ स्तर के ट्रेक का दर्जा दिया गया है, वो भी सिर्फ इसलिए क्योंकि ट्रैकिंग के दिन थोड़े लंबे होते हैं. इस ट्रेक पर जाने का सबसे अच्छा समय जुलाई की शुरुआत से सितंबर की शुरुआत तक है। यह भारतीय उपमहाद्वीप के बाकी हिस्सों में पारंपरिक मानसून का मौसम है, लेकिन कश्मीर घाटी में ऐसा नहीं होता क्योंकि कश्मीर में जुलाई और अगस्त के महीने में केवल हल्की वर्षा ही होती है । यह एक आरामदायक ट्रेकिंग अनुभव प्रदान करता है। अन्य किसी भी मौसमों में ट्रेक करने के लिए बहुत ठंड होती है, अधिकांश भाग में पगडंडी और घास के मैदान बर्फ के नीचे दबे रहते हैं।

Read More कश्मीर ग्रेट लेक्स ट्रेक कश्मीर में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगह है

निष्कर्ष

टार्सर मार्सर ट्रेक जम्मू और कश्मीर के प्राचीन जंगल की खोज करने वाले ट्रेकर्स के लिए रोमांच, प्राकृतिक सुंदरता और सांस्कृतिक अनुभवों का एक आदर्श मिश्रण प्रदान करता है। चमचमाती झीलों से लेकर ऊंची चोटियों तक, यात्रा का हर कदम विस्मयकारी सुंदरता और अविस्मरणीय क्षणों से भरा है।

  

Leave a Comment

Jammu Kashmir Me Ghumne Ki Jagah | जम्मू-कश्मीर में घूमने की जगहें Gulmarg Trek: कश्मीर में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगह तमिलनाडु: दक्षिण भारत का रत्न, अनंत आकर्षणों का खजाना | Tamilnadu Tourism राजस्थान के खूबसूरत महल जिन्हें देखकर आप भी कहेंगे वाह! 6+ उड़ीसा में घूमने की शानदार जगह | Odisha Me Ghumne Ki Jagah